सारा दिन / मृग तृष्णा – कविता सुनिए

सुनिए मृग तृष्णा की लिखी कविता “सारा दिन”, करण गुप्ता की आवाज़ में